कानपुर देहात मांगे सुरक्षा अधिकारी

कानपुर देहात मांगे सुरक्षा अधिकारी

ये वो लोग हैं जो महिलाओं की इज्जत करते है, महिलाओं के खिलाफ होने वाली हिंसा पर आवाज उठाते है।ये उनकी मदद करते है।ये वो और कोई नही-हम और आप हैं।

घरेलू हिंसा क्या है और इसे रोकने के लिए आप क्या कर सकते हैं?

घरेलू हिंसा का सामना कर रही महिला कहां से और क्या मदद हासिल कर सकती है? सरकारी तंत्र की इसमें क्या भूमिका हो सकती है।इन सवालों का जवाब देने के लिए मानवाधिकार और महिला हिंसा के खिलाफ काम कर रहीं संस्था ब्रेकथ्रू ने कानपुर देहात के सामुदायिक रेडियो वक्त की आवाज के साथ घरेलू हिंसा के खिलाफ अपना घरेलू हिंसा को रोको बेल बजाओ! कानपुर देहात मांगे सुरक्षा अधिकारी अभियान चलाया।इस अभियान में हमने सामुदायिक रेडियो वक्त की आवाज पर पांच एपीसोड की एक कार्यक्रम श्रृंखला चलाकर समुदाय को घरेलू हिंसा के मुद्दे पर जागरुक किया,साथ ही घरेलू हिंसा के मामलों को देखने के लिए कानपुर देहात में सुरक्षा अधिकारी नियुक्ति की मांग जोरदार तरीके से उठाई।अभियान के अंत में 30 सिंतबर 2014 जनसुवाई के माध्यम से प्रशासनिक अधिकारियों के सामने घरेलू हिंसा के मुद्दे को रखा।

 

कानपुर देहात मांगे सुरक्षा अधिकारी
कानपुर देहात मांगे सुरक्षा अधिकारी
कानपुर देहात मांगे सुरक्षा अधिकारी
कानपुर देहात मांगे सुरक्षा अधिकारी

क्या राज का रीटा से ये सवाल एक सही प्रतिक्रिया थी? #consent pic.twitter.com/zYZbFhEw02

About 2 hours ago from Breakthrough India's Twitter via TweetDeck

WebStream

It starts with you

Partners